Published On: Sat, Mar 24th, 2018

राष्ट्रपति, PM मोदी का 2025 तक टीबी खत्म करने के लिए मदद का आग्रह

नई दिल्ली। विश्व तपेदिक (टीबी) दिवस के मौके पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी हितधारकों से इस बीमारी को 2025 तक खत्म करने में सहायता करने का आग्रह किया है। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘‘विश्व तपेदिक दिवस पर मैं हितधारकों से साथ आकर तपेदिक से मुकाबला करने का आग्रह करता हूं। हमारे देश में टीबी जन स्वास्थ्य के लिए लगातार एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। समय आ गया है कि हम सब 2025 तक भारत से इसका नामोनिशान मिटा देने के लिए एक साथ आएं।’’
मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘इस साल के विश्व टीबी दिवस के विषय ‘वांटेड : लीडर्स फॉर ए टीबी फ्री वल्र्ड’ की भावना को ध्यान में रखते हुए मैं टीबी को खत्म करने के लिए नागरिकों और संगठनों से इस अभियान में आगे आने का आग्रह करता हूं। टीबी मुक्त दुनिया मानवता की एक बड़ी सेवा है।’’ उन्होंने यह भी कहा कि सरकार भारत को टीबी मुक्त बनाने के लिए काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में 13 मार्च को टीबी पर दिए गए अपने अभिभाषण के बारे में एक न्यूज रिपोर्ट का जिक्र किया।
उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया ने जहां 2030 तक टीबी का उन्मूलन करने का लक्ष्य रखा है, हम भारत में 2025 तक टीबी मुक्त होना चाहते हैं। हालिया ‘डेल्ही एंड टीबी समिट’ में मैंने इस विषय के बारे में बात की।’’ विश्व टीबी दिवस लोगों को इसके प्रति जागरूक करने और वैश्विक स्तर पर इस महामारी को खत्म करने के प्रयास को आगे बढ़ाने के लिए मनाया जाता है।  रॉबर्ट कोच ने 24 मार्च 1882 को टीबी के जीवाणु की खोज करने की घोषणा की थी, जिससे इस बीमारी की इलाज ढूंढऩे में मदद मिली। इसलिए, 24 मार्च को विश्व टीबी दिवस मनाया जाता है।

fdfd