Published On: Mon, Jul 24th, 2017

महामहिम का सपना होगा पूरा, शहर में बनेगा प्रवेश द्वार, होगा सौन्दर्यीकरण

Kovindकानपुर। देश के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का सपना था कि शहर में प्रवेश द्वार बने और अपनी इच्छा को बिहार के राज्यपाल रहते दर्शा भी दिया था। लेकिन उस दौरान केडीए के अधिकारियों ने गंभीरता से नहीं लिया। पर अब राष्ट्रपति बनते ही अधिकारी उनके सपने को पूरा करने में जुट गए हैं। शहर के रहने वाले महामहिम रामनाथ कोविंद बिहार के राज्यपाल रहते कानपुर में एक निजी समारोह में शहर के प्रति अपनी इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि शहर के प्रवेश द्वार जाजमऊ क्षेत्र का सुंदरीकरण होना चाहिए और भव्य प्रवेश द्वार बने। तब से अब तक प्रशासन से लेकर केडीए तक के अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। मगर अब उनके राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर केडीए अधिकारियों को उनकी इच्छा याद आई और शहर के प्रवेश द्वार के सुंदरीकरण के लिए तैयारियां शुरू कर दी।

केडीए उपाध्यक्ष के.विजयेंद्र पांडियन नेे बताया कि मैने स्वयं टीम के साथ शहर के प्रवेश द्वार जाजमऊ का निरीक्षण किया। लखनऊ-कानपुर मार्ग पर नगर के प्रवेश द्वार व संबंधित क्षेत्र का विकसित किए जाने पर विचार-विमर्श किया गया है। गंगा पुल जाजमऊ से एक किलोमीटर की लंबाई में कानपुर व लखनऊ दोनों तरफ सर्वे कराकर सुंदरीकरण का प्रस्ताव यथाशीघ्र प्रस्तुत किए जाने के लिए अधिशासी अभियंता जोन एक व मुख्य नगर नियोजक को निर्देश दिया। गंगा पुल से चुंगी चौराहा तक एलीवेटेड हाईवे के नीचे उपलब्ध स्थान का भी सुंदरीकरण कराने के लिए कहा। उन्होंने बताया कि शैडो लविंग प्लांट्स लगाए जाने के प्रस्ताव का परीक्षण होगा। वहीं, गंगापुल पर स्थित राजा ययाति किले के ऐतिहासिक खंडहर अवशेष का संरक्षण करने का खाका खींचा जा रहा है। इसके लिए एएसआई व एनएचएआई के अधिकारियों के साथ समन्वय बैठक जल्द होगी। तहसीलदार आत्मा स्वरूप श्रीवास्तव को सड़क के दोनों ओर उपलब्ध ग्राम समाज की भी भूमि का भी परीक्षण किए जाने व उक्त भूमि को भी सुंदरीकरण के प्रस्ताव में शामिल किए जाने के आदेश दिए।

उन्होंने कहा कि गंगा पुल से उन्नाव की ओर लगभग एक किलोमीटर लंबाई में लगभग चार से पांच मीटर चौड़ाई में ग्रीन वर्ज तैयार होगा। इसके अलावा जाजमऊ क्षेत्र में प्राधिकरण के स्वामित्व की अनियोजित भूमि नियोजित किया जाएगा। शहर के प्रवेश द्वार को लेकर अधिकारियों की तेजी से अब शहरवासियों को उम्मीद है कि महामहिम का सपना तो पूरा होगा ही साथ ही शहर का विकास भी तेज होगा।