Published On: Mon, Oct 30th, 2017

विश्व भर में शांति ला रहे हमारे जवान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा कि हमारे जवान न सिर्फ बॉर्डर पर, बल्कि विश्वभर में शांति स्थापित करने में भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे जवान दुर्गम इलाकों में जाते हैं और कई जवानों ने जान गंवाई है। मन की बात के 37वें संस्करण में पीएम ने ‘खादी फॉर ट्रांसफोर्मेशन’ का नया नारा दिया। जवानों के साथ दिवाली मनाने के अनुभवों को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि यह अविस्मरणीय रहा। उन्होंने जब हमें अवसर मिले हमें उनके अनुभव जानने चाहिए, उनकी गौरवगाथा सुननी चाहिए।
एक कॉलर के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आज बड़ा आश्चर्य होता है कि जब सुनते हैं कि बच्चों को भी डायबिटीज होती है। पहले ऐसे रोगों को राजरोग कहा जाता था, क्योंकि ये संपन्न और ऐशोआराम वालों को हुआ करती था। उन्होंने इससे बचने के लिए आयुर्वेद और योग को जीवन का हिस्सा बनाने की सलाह दी। प्रधानमंत्री मोदी ने एक काॅलर के जवाब में कहा कि हमारे पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु जी के जन्मदिन पर मनाए जाने वाले बाल दिवस की सभी बच्चों को शुभकामनाएं।’
डिजिटल मुद्रा के युग में पीछे नहीं रह सकते 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत डिजिटल मुद्रा युग में पीछे नहीं रह सकता और उन्होंने उन दिग्गजों पर प्रहार किया जिन्होंने डिजिटल लेन-देन पर सरकार के फैसले का मजाक उड़ाया। उन्होंने कर्नाटक में एक रैली में कहा कि अब डिजिटल मुद्रा का युग शुरू हो गया है और भारत को उसमें पीछे नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि डिजिटलीकरण का लक्ष्य जवाबदेही लाना है तथा अधिक नकद से सामाजिक बुराइयां आएंगी। प्रधानमंत्री ने उन लोगों पर भी प्रहार किया जो अपने आप को तीस मार खां समझते हैं और डिजिटल लेन-देन को संदेह की नजर से देखते हैं। पीएम ने कहा कि कांग्रेस के नेता कश्मीर की आजादी की मांग करने वाले अलगाववादियों की भाषा बोल रहे हैं। यह हमारे जवानों का अपमान है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बेशर्मी के साथ उस भाषा का प्रयोग कर रही है, जो कश्मीर की धरती पर अलगाववादी करते हैं और जो पाक में बोली जाती है।