Published On: Mon, Aug 7th, 2017

हरियाणा कैबिनेट ही नहीं, संगठन में भी बड़ी उठापठक के संकेत

amit-shahभाजपा अध्यक्ष अमित शाह को हरियाणा में जो फीडबैक मिला, उसके बाद कई दिग्गज नेताओं पर ‘गाज़’ गिर सकती है। पार्टी वर्करों-पदाधिकारियों व संघ नेताओं के साथ दो दर्जन से अधिक बैठकों के फीडबैक से अमित शाह काफी ‘नाराज़’ रहे। खट्टर मंत्रिमंडल की परफोरर्मेंस से भी वह ‘खुश’ नहीं दिखे। पार्टी के भरोसेमंद सूत्रों की मानें तो शाह की यह नाराजगी आने वाले दिनों में बड़े ‘बदलाव’ का कारण बन सकती है। बेशक इसमें थोड़ी देरी हो, लेकिन पार्टी हाईकमान ने इसके लिए ‘ग्राउंड’ तैयार कर लिया है। गलत मैसेज न जाने पाये इसलिए तुरंत ‘बदलाव’ नहीं होगा। केंद्रीय संगठन व मंत्रिमंडल में संभावित फेरबदल/ विस्तार के बाद हरियाणा का नंबर लगना लगभग तय है।
हरियाणा कैबिनेट ही नहीं, संगठन में भी बड़ी उठापठक के संकेत अमित शाह की ‘बॉडी-लैंग्वेज’ से नेताओं को मिले हैं। मंत्रियों के लिए कार्यालय में उपस्थिति और वर्करों के लिए काम का जो फरमान उन्होंने जारी किया है, उससे यह तो जाहिर हो गया है कि शाह ने शिकायतों पर कड़ा नोटिस लिया है। मंत्रियों की ‘क्लास’ के बाद फेरबदल की संभावनाएं बढ़ गई हैं।
सुरक्षा में चूक मामला भी ‘ऊपर’ तक पहुंच गया है। सूत्रों के अनुसार शाह ने कुछ मुद्दों पर कई मंत्रियों को हड़काया। सरकार और संगठन के कामकाज पर भी उंगलियां उठीं।
रिश्तेदारों से करना होगा किनारा
सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान पार्टी व संघ के पुराने वर्करों व नेताओं ने इस बात पर कड़ी आपत्ति जताई कि कई मंत्रियों ने अपने रिश्तेदारों को ‘पावरफुल’ बनाया है। परिवार के ही लोगों ने मंत्रियों को घेरा हुआ है। ऐसे में वर्करों की सुनवाई नहीं हो पाती। भाजपा परिवारवाद के खिलाफ राजनीति करने का दम भरती रही है। ऐसे में ये आरोप भी कुछ मंत्रियों पर भारी पड़ सकते हैं।