मीटिंग में दिखे अमित शाह के तल्ख तेवर, बीजेपी नेताओं को दी ये नसीहत

amit-shahभोपाल। तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पहली ही बैठक में साफ कह दिया कि अंदर की बात बाहर नहीं जानी चाहिए। यानी मीडिया से दूरी बनाए रखनी है। शाह विशेष विमान से भोपाल पहुंचे। पार्टी दफ्तर पहुंचने के बाद उनकी पहली बैठक पार्टी के केंद्रीय पदाधिकारियों, कोर ग्रुप के सदस्यों, प्रदेश प्रवक्ता, संगठन पदाधिकारी और मोर्चा पदाधिकारी के साथ हुई। इस बैठक में उन्होंने अपने तल्ख तेवर दिखाए और कहा, इस बैठक में जो बात हो रही है, वह बाहर नहीं जानी चाहिए।

स्वागत और भाषण की लंबी प्रक्रिया पर नाराजगी

सूत्रों के मुताबिक, शाह ने स्वागत और भाषण की लंबी प्रक्रिया पर साफ नाराजगी जताई। बैठक से बाहर निकले कई नेताओं से संवाददाताओं ने जब बैठक का ब्यौरा चाहा, तो उन्होंने साफ कहा कि उनसे कहा गया है कि बैठक की बात बाहर नहीं जानी चाहिए। लिहाजा, वे कुछ भी नहीं बताएंगे। एक पदाधिकारी तो यहां तक कह गया, मैं छोटा नेता हूं, मुझे क्यों मरवाते हो।

शाह बोले-मैं भाषण सुनने नहीं आया हूं

भोपाल पहुंचने पर अमित शाह जबर्दस्त स्वागत किया गया। इस वजह से शाह को बीजेपी ऑफिस पहुंचने में करीब डेढ़ घंटे की देरी हो गई। मीटिंग के पहले स्वागत समारोह चल रहा था। तभी शाह ने कहा कि नंदकुमार सिंह चौहान से कहा कि ज्यादा भूमिका मत बनाओ और बैठक शुरू करो। मैं यहां भाषण सुनने नहीं आया हूं।

मंत्री के घर खाया गुजराती खाना

 

मीटिंग खत्म होने के बाद अमित शाह नरोत्तम मिश्रा के घर पहुंचे। यहां उन्होंने शहर के कुछ चुनिंदा पत्रकारों और मंत्रियों के साथ लंच किया। शाह की पसंद का ध्यान रखते मिश्रा ने अपने घर पर खास गुजराती खाना बनवाया था।