‘साझी विरासत बचाओ’ में गूंजे RSS और BJP विरोधी स्वर

srad yadavइंदौर। भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ  तमाम विपक्षी दलों की एकजुटता की खातिर वरिष्ठ नेता शरद यादव की अगुवाई में शुरू हुए ‘साझी विरासत बचाओ’ अभियान का कारवां बुधवार को मध्य प्रदेश के इंदौर में था। यहां पहुंचे नेताओं ने सीधे तौर पर भाजपा के साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर हमला बोला। खेल प्रशाल में आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि इस अभियान का मकसद देश की बहुलतावादी संस्कृति के प्रति जागरूक करना है, क्योंकि इसे भाजपा और संघ की विभाजनकारी नीतियों से खतरा बना हुआ है।

इस कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह ने सीधे तौर पर संघ पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि संघ से निपटने के लिए साझी विरासत को बचाने की जरूरत पड़ी है। उन्होंने शरद यादव की अगुवाई में शुरू किए गए अभियान को देशहित में बताया और कहा कि इस समय देश शरद यादव की ओर देख रहा है।

इस सम्मेलन में शरद यादव ने देश के लिए विपक्षी दलों की एकजुटता को जरूरी बताते हुए कहा कि वर्तमान में किस तरह समाज को बांटने की कोशिश हो रही है, इसी समाज को बताना होगा। वहीं माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि विपक्षी दलों का मकसद चुनाव जीतना नहीं और मुद्दा भी चुनाव नहीं है, मुद्दा यह है कि साझी विरासत रहेगी या नहीं। इस सम्मेलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस के तारिक अनवर, सीपीआई के डी. राजा, कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अरुण यादव, सांसद अली अनवर सहित अन्य दलों के नेता मौजूद थे।