MP:भारत बंद का दिखा असर,सीधी में वकीलों पर लाठीचार्ज

भोपाल। आरक्षण विरोधियों द्वारा सोशल मीडिया के जरिए किए गए को भारत बंद के आह्वान का मध्य प्रदेश में मिला-जुला असर है, हर तरफ सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है, 50000 जवान सुरक्षा में लगे हैं। सीधी में पुलिस ने बंद के दौरान जमकर लाठीचार्ज किया, जिसमें तीन वकीलों के घायल होने की सूचना है। राज्य में सुबह से ही भारत बंद का आंशिक असर दिखा, कई प्रतिष्ठान मालिकों ने अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा है, वहीं परिजनों ने बच्चों को कम संख्या में विद्यालय भेजा, इसी तरह आमजन भी घरों से कम संख्या में बाहर निकले हैं। ग्वालियर में बाजार पूरी तरह बंद हैं।
सीधी जिले में वकीलों के एक समूह को देखकर पुलिस को आमजन द्वारा बंद कराने वालों का भ्रम हुआ तो पुलिस ने उन पर जमकर लाठियां बरसा दीं। इस लाठीचार्ज में तीन अधिवक्ता घायल हुए हैं। राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा है कि बंद के आह्वान को देखते हुए हर तरफ सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा बल लगातार गश्त कर रहे हैं।
राज्य के मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि राज्य के कई जिलों में निषेधाज्ञा लागू की गई है। वहीं 50000 जवान सडक़ों पर गश्त कर रहे हैं। इसके अलावा रैपिड एक्शन फोर्स, अन्य सुरक्षा बल तैनात किया गया है।
राजधानी भोपाल में जिलाधिकारी ने मंगलवार सुबह छह बजे से निषेधाज्ञा लगाई गई है, जो 24 घंटे प्रभावशाली रहेगी। पांच से ज्यादा व्यक्ति एकजुट होकर धरना, प्रदर्शन नहीं कर सकेंगे। धरना, प्रदर्शन, रैली पर पूरी तरह रोक है, कोई भी व्यक्ति लाठी, डंडा लेकर नहीं निकल सकेगा। विवाह समारोह, बारात, शवयात्रा, सरकारी दफ्तरों, अस्पताल, स्कूल, होटल, निजी संस्थान इससे दूर रहेंगे।
वर्ष 1989 में बने एससी/एससी कानून को कमजोर किए जाने के खिलाफ दो अप्रैल को दलितों के आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के विरोध में 10 अप्रैल को सोशल मीडिया के जरिए कथित तौर पर भारत बंद का आान किया गया है।
चंबल क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) संतोष सिंह ने बताया कि भिंड और उसके कस्बे मालनपुर, मेहगांव, गोहद के अलावा मुरैना शहर में सोमवार की रात से कफ्र्यू लगाया गया है, जो शाम तक जारी रहेगा, समीक्षा के बाद कोई फैसला होगा।
इसी तरह ग्वालियर के थाटीपुर, गोला का मंदिर, मुरार, डबरा शहर और ग्रामीण में भी रात को कफ्र्यू लगा रहा। दिन में निषेधाज्ञा लगाई गई है। इसके अलावा ग्वालियर-चंबल के अधिकांश हिस्सों में इंटरनेट सेवा को निलंबित किया गया है।

fdfd