मप्रःसबसे स्वच्छ शहरों में इंदौर,भोपाल,चंडीगढ़ शामिल।

देश के 3 सबसे स्वच्छ शहरों में इंदौर,भोपाल,चंडीगढ़ शामिल। केंद्रीय शहरी कार्य मंत्रालय के स्वच्छता सर्वेक्षण -2018 में देश के पहले तीन स्वच्छ शहरों में क्रमश: इंदौर, भोपाल और चंडीगढ़ को चुना गया है। उत्तर भारत में एक लाख से कम आबादी वाले शहरों में हरियाणा के  घरौंडा को ‘अभिनव और सर्वोत्तम व्यवहार’ श्रेणी में प्रथम चुना गया है।
केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 के नतीजे जारी करते हुए बताया कि इस बार  4203 शहरी निकायों को इस सर्वेक्षण के दायरे में लिया गया। कुल 2018 शहरों को 52 श्रेणियों के तहत पुरस्कार मिलेंगे। पुरस्कार वितरण समारोह जल्द होगा। पुरी ने कहा कि दो अक्टूबर-2014 को यह सर्वेक्षण लांच किया गया था। यह तीसरा सर्वेक्षण है। स्थानीय निकायों में नयी दिल्ली नगर परिषद को 3 लाख से कम आबादी वाला सबसे साफ शहर घोषित किया गया। उत्तरी क्षेत्र में एक लाख से कम आबादी के शहरों में पंजाब का ‘भडसोन’ सबसे साफ शहर और ‘मोनक’ को सिटीजन फीडबैक में सबसे पहले स्थान पर पाया गया। राज्यों में झारखंड, महाराष्ट्र  और छतीसगढ़  क्रमश: बेहतर प्रफोरमिंग राज्य मिले। राज्यों की राजधानियों में ग्रेटर मुंबई सबसे साफ शहर साबित हुआ है। यह लगातार दूसरा वर्ष है जब इंदौर पहले और भोपाल दूसरे स्थान पर आए हैं। इस सर्वे रिपोर्ट के अनुसार, 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में विजयवाड़ा सबसे साफ शहर और तीन लाख से 10 लाख की आबादी वाले शहरों में मैसूर ने पहला स्थान हासिल किया है।

37.66 लाख लोगों ने दिया फीडबैक  
रिपोर्ट के अनुसार, सर्वेक्षण के लिए 37.66 लाख लोगों ने अपना फीडबैक दिया।  ये लोग देश की 4,203 नगरपालिकाओं से  हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण का फील्ड सर्वे एक स्वतंत्र ऐजेंसी से कराया गया है और शहरों को रैंकिंग देने के लिए डाटा 3 सूत्रों से एकत्रित किया गया है। इसमें, सर्विस लेवल प्रोग्रेस, औचक निरीक्षण और लोगों के फीडबैक को शामिल किया गया है। इसमें लोगों के फीडबैक को 35 प्रतिशत हिस्सा दिया गया है।

fdfd