Published On: Sun, Aug 25th, 2013

बलात्कार का केस लगते ही सामने आया डुप्लीकेट आसाराम बापू!

फ्रॉड विदेशी बाबा का नाम जोसफ बैंक्सन उर्फ स्वाजमी विराटो है। तस्वीयर में जो युवती है, वो उसकी पत्नी  लुडमिला उर्फ धीरजा है। ये दोनों ओशो के अनुयायी हैं।

फ्रॉड विदेशी बाबा का नाम जोसफ बैंक्सन उर्फ स्वाजमी विराटो है। तस्वीयर में जो युवती है, वो उसकी पत्नी लुडमिला उर्फ धीरजा है। ये दोनों ओशो के अनुयायी हैं।

नई दिल्‍ली. धार्मिक गुरु संत आसाराम बापू पर दिल्‍ली कमला मार्केट पुलिस स्‍टेशन में बलात्‍कार का केस दर्ज होते ही पूरे मीडिया में एक संत के खिलाफ खबरें दौड़ने लगीं। ट्विट पर लोग भड़ास निकालने लगे और फेसबुक पर कमेंटबाजी तेज हो गई। ऐसे में एक और आसाराम बापू उभर कर सामने आया है, जिसे बहु‍त कम लोग ही जानते हैं। यह आसाराम असली नहीं बल्कि डुपलीकेट है, जिसकी तस्‍वीरें इंटरनेट पर दौड़ रही हैं। हुआ यूं कि जैसे ही जोधपुर आश्रम में रेप की खबर आयी, वैसे ही फेसबुक पर एक संत की तस्‍वीर अपलोड की गई, जिसमें हू-ब-हू आसाराम बापू की तरह दिखाई देने वाला एक बाबा एक लड़की को अपनी गोद में लिये बैठा है। असल में यह तस्‍वीर काफी पुरानी है, लेकिन मामला उठते ही इसे नये कलेवर में लोगों ने पेश कर दिया। जैसे-जैसे यह तस्‍वीर वायरल हुई, वैसे वैसे आसाराम बापू के समर्थकों का पारा गर्म होने लगा।duplicate asha ram

तभी इसकी सफाई देते हुए इस फ्रॉड बाबा के बारे में जानकारी प्रकाशित की गई। इस फ्रॉड विदेशी बाबा का नाम जोसफ बैंक्‍स उर्फ स्‍वामी विराटो है। तस्‍वीर में जो युवती है, वो उसकी पत्‍नी लुडमिला उर्फ धीरजा है। ये दोनों ओशो के अनुयायी हैं।

पहली बार नहीं आया फ्रॉड बाबा

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि किसी फ्रॉड बाबा का कोई डुप्‍लीकेट आया हो। इससे पहले बाबा रामदेव का भी डुप्‍लीकेट आ चुका है, जिसकी तस्‍वीरें इंटरनेट पर जमकर शेयर की गई थीं। उस बाबा का नाम सुनील तलवार है। सुनील तलवार एक कलाकार है, जिसने एक शो के दौरान कुछ युवतियों के संग नाचते हुए तस्‍वीरें खिंचवायी थीं। उस वक्‍त वह बाबा रामदेव के वेश में था।

duplicate-of-baba-ramdevहॉट बेब्‍स के संग तस्‍वीरों में बाबा रामदेव को किया बदनामduplicate-of-baba-ramdev

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया कितना बड़ा हथियार साबित होगा, यह हर पॉलिटिकल पार्टी जानती है, इसलिये चाहे अपनी बात रखनी हो, या फिर किसी को बदनाम करना हो, हर कोई इसी को माध्‍यम बना रहा है। बात बदनाम करने की आयी है, तो हम आपको बता दें कि कुछ पुरानी तस्‍वीरों का इस्‍तेमाल कर, लोगों ने योग गुरु बाबा रामदेव को बदनाम करना शुरू कर दिया है। क्‍योंकि वो जानते हैं कि चुनाव में बाबा की भूमिका काफी अहम होने वाली है। असल में फेसबुक, गूगल प्‍लस और ट्विटर पर जो तस्‍वीरें वायरल हो रही हैं। उन तस्‍वीरों पर लिखा है, ‘देखिये बाबा रामदेव की असलियत’ और तस्‍वीरों में भगवा वस्‍त्रों में एक व्‍यक्ति लड़कियों संग नाचता दिखाई दे रहा है। कई जगह तस्‍वीरों में बाबा के खिलाफ कमेंट भी डाले गये हैं। जबकि सच तो यह है कि तस्‍वीरों में बाबा के जैसा दिखाई दे रहा व्‍यक्ति बॉलीवुड का एक छोटा सा कलाकार है, जिसका नाम है सुनील तलवार। यह व्‍यक्ति आज से करीब दो साल पहले बॉलीवुड की एक पार्टी में बाबा रामदेव के वेश में गया और वहां जमकर नाचा। उस समय खींची गईं, तस्‍वीरें कुछ मैगजीनों में आयीं, लेकिन किसी का सुनील पर ध्‍यान नहीं गया, आज वही तस्‍वीरें एक बार फिर फेसबुक और जी प्‍लस पर नये रूप में परोसी जा रही हैं।

asaram-baapuनाबालिग के यौन शोषण से पहले आसाराम बापू के 10 विवाद

करोड़ों लोगों की आस्‍था का प्राय बन चुके संत आसाराम बापू पर दिल्‍ली की एक नाबालिग लड़की ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। लड़की ने तमाम गंभीर आरोप लगाते हुए दिल्‍ली के कमला मार्केट थाने में मामला दर्ज कराया है। इस आरोप के बाद एकबार फिर आसाराम विवादों में फंस गये हैं। वैसे देखा जाये तो उनका विवादों से पुराना रिश्‍ता है और हम उसी रिश्‍ते को एक बार फिर आपके सामने रखेंगे। अपने समागमों में नाटकीय भूमिकाएं निभाने के लिये प्रसिद्ध आसाराम बापू के संत करियर की शुरुआत आज से करीब 38 साल पहले मध्‍य प्रदेश से हुई थी। उन्‍होंने 30 वर्ष की आयु में एक कुटिया की स्‍थापना की, जो आज एक भव्‍य आश्रम का रूप ले चुका है, जहां हर साल बापू हजारों भक्‍तों के साथ भगवान कृष्‍ण बनकर होली खेलते हैं। 500 करोड़ से ज्‍यादा की जायदाद के मालिक आसाराम के देश-दुनिया में 200 से अधिक आश्रम हैं, 12 हजार करेाड़ की जमीनें हैं। नब्‍बे के दशक में आडवाणी की रथ यात्रा में आसाराम बापू ने अहम भूमिका निभाई। रथ यात्रा के लिये बापू के जनाधार जुटाने में बड़ी भूमिका निभाई। उस जनाधार को देखते हुए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने बापू की जमकर तारीफें कीं। इसके बाद दिल्‍ली के एक समागम में पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने उनके पैर तक छुए थे। करोड़ों लोगों की आस्‍था से जुड़े हुए आसाराम बापू के भक्‍त सिर्फ भारत में नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं। उन भक्‍तों की भावनाओं को तब ठेस पहुंची जब उन पर यौन शोषण का मामला दर्ज हुआ। यौन शोषण के आरोप लगाने वाली लड़की का दावा है कि उनके आश्रम में उसका कई दिन तक यौन शोषण हुआ। यह लड़की जोधपुर में स्थित आसाराम बापू के गुरुकुल में ही रहकर पढ़ाई कर रही थी। उसने पुलिस को बताया कि बापू ने उसे आश्रम में बुलाकर उसके साथ गलत काम किया। वहीं दिल्‍ली में बापू के ट्रस्‍ट की प्रवक्‍ता नीलम का कहना है कि ये सभी आरोप निराधार हैं और किसी ने बापू के खिलाफ सोची समझी साजिश रची है।

जमीन पर कब्‍जे का अरोप

वर्ष 2000 में आसाराम बापू के खिलाफ करीब 10 एकड़ जमीन पर कब्‍जा करने के आरोप हैं। यह मामला नवसारी जिले में दर्ज है। इस पर भैरवी गांव के लोगों ने बापू के खिलाफ कई बार प्रदर्शन भी किये। जब मामला अदालत पहुंचा तो जिला प्रशासन ने बापू के आश्रम पर बुलडोजर चला दिया।

मध्‍य प्रदेश में जमीन पर अवैध कब्‍जा

जमीन पर अवैध कब्‍जा आसाराम बापू की योग वेदांत समिति ने रतलाम में स्थित मंगलया मंदिर के पास 2001 में 11 दिनों के लिये एक जमीन ली। उसके बाद करीब इस 100 एकड़ जमीन पर कब्‍जा कर लिया। इस जमीन की कीमत करीब 700 करोड़ की है। इस पर बापू के खिलाफ केस फाइल किया गया। इस समय यह जमीन जयंत विटामिन्‍स लिमिटेड के पास है।

तंत्र-मंत्र से हत्‍या के प्रयास

दिसंबर 2009 में आसाराम बापू पर राजू चंदक नाम के एक व्‍यक्ति ने आरोप लगाये कि बापू ने उसे जान से मारने की कोशिश की। उसने यह भी आरोप लगाया कि उनके आश्रम में तंत्र-मंत्र व काला जादू होता है और महिलाओं का यौन शोषण किया जाता है।

आश्रम में बच्‍चों की मौत

वर्ष 2008 में संत आसाराम बापू के आश्रम में दो बच्‍चों की संदिग्‍ध मौत हो गई। उनके शव साबरमती नदी के तट पर मिले। दोनों मोटेरा स्थित गुरुकुल में पढ़ते थे। इस पर सीआईडी की जांच बैठी। उस दौरान प्रफुल वाघेला ने यह आरोप लगाये कि तंत्र मंत्र के चक्‍कर में उनके बच्‍चे को मार दिया गया। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने बाद में बापू को इस मामले से बरी कर दिया।

मारा थप्‍पड़

आसाराम बापू ने कुछ साल पहले एक समागम के दौरान भरी पब्लिक के बीच पत्रकार को थप्‍पड़ मार दिया था, जिस पर पूरे मीडिया ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।
विदिशा में भक्‍त के पेट पर लात मारी फरवरी 2013 में मध्य प्रदेश के विदिशा में आसाराम के सत्संग के दौरान अमान सिंह दांगी नाम के शख्स ने आरोप लगाया कि प्रवचन खत्म होने के बाद वह जैसे ही आशीर्वाद लेने के लिए आसाराम बापू के कदमों में झुके उन्होंने उन्हें लात मार कर अपने से दूर गिरा दिया। दांगी का कहना है कि इसके बाद वह काफी देर तक ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे।

पत्रकारों को कुत्‍ता कहा

संत आसाराम बापू ने दो साल पहले मध्‍य प्रदेश में एक समागम के दौरान कहा पत्रकार तो कुत्‍ते होते हैं, जहां पुचकार दो वहां चले जाते हैं। इस पर मीडिया ने उन के खिलाफ जमकर बवाल काटा था।
दिल्‍ली गैंग रेप पर संवेदनहीन बयान

पिछले साल दिसंबर में दिल्‍ली गैंगरेप के बाद जब देश उबल रहा था, तब आसाराम बापू ने कहा कि वो पांच-छह आरोपल दोषी नहीं हैं, खुद वो लड़की असली दोषी है। उसे उन हैवारों को भाई कहकर जान की भीख मांगनी चाहिये थी।

मोदी को इशारों में धमकाया

सौराष्ट्र में आसाराम बापू द्वारा आयोजित सत्संग की अनुमति प्रशासन द्वारा ना देने पर , आसाराम बापू भड़क गए, आसाराम बापू ने इसे चुनौती के तौर पर लेते हुए गुजरात सरकार और सरकार के मुखिया नरेंद्र मोदी को आड़े हाथो लेते हुए चेतावनी दे डाली। पुलिस द्वारा आसाराम बापू के सत्संग के लिए चुने गए आयोज़न स्थल पर पहुंच कर आयोजको को हटाने की बात पर भड़के आसाराम बापू ने कहा जो सत्संग को रोकेगा वो खुद ही नष्ट हो जायेगा।

नाबालिग लड़की का यौन शोषण

संत आसाराम बापू एक नई मुसीबत में फंस गये हैं। इस बार उन पर यौन शोषण का आरोप लगा है। यह आरोप जोधपुर की एक नाबालिग लड़की ने लगाया है। लड़की ने दिल्‍ली के कमला मार्केट थाने में आसाराम बापू के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

fdfd