Published On: Sun, Oct 29th, 2017

देश के भविष्य के लिए पार्टियों में लोकतांत्रिक भावना आवश्यक-PM

भाजपा मुख्यालय में आयोजित दिवाली मंगल मिलन समारोह में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और स्मृति ईरानी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजनीतिक दलों में आंतरिक लोकतंत्र पर चर्चा का आह्वान करते हुए कहा कि देश के भविष्य के लिए पार्टियों के भीतर सच्ची लोकतांत्रिक भावना का विकास आवश्यक है। मोदी ने यह टिप्पणी भाजपा मुख्यालय में आयोजित दिवाली मिलन कार्यक्रम में मीडिया को संबोधित करते हुए की। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों की फंडिंग पर अकसर चर्चा होती है, लेकिन उनके मूल्यों, विचारधारा, आतंरिक लोकतंत्र और वह नयी पीढ़ी के नेताओं को किस तरह अवसर प्रदान करती हैं, इस बारे में चर्चा नहीं होती। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश पार्टियों के भीतर लोकतंत्र को लेकर ज्यादा अवगत नहीं है और मीडिया को इस पर ध्यान देना चाहिए। मोदी ने कहा,लोकतांत्रिक मूल्य पार्टियों के मूलभूत मूल्य हैं या नहीं, इस बारे में व्यापक चर्चा होनी चाहिए। मेरा मानना है कि राजनीतिक दलों के भीतर सच्ची लोकतांत्रिक भावना का विकास न सिर्फ देश के भविष्य के लिए, बल्कि लोकतंत्र के लिए भी आवश्यक है।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रेखांकित किया कि दिवाली गुजरात में नये साल का आगाज कराती है। उन्होंने कहा कि देश ने पिछले साल के दौरान कई चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना किया है और यह मोदी सरकार के तहत आगे बढ़ा है। शाह ने कहा, हम काफी सकारात्मकता के साथ नये साल में प्रवेश कर रहे हैं।
कांग्रेस पर निशाना! 
प्रधानमंत्री ने किसी प्रतिद्वंद्वी पार्टी का नाम नहीं लिया, लेकिन उनकी टिप्पणियां इन खबरों की पृष्ठभूमि से संबंधित हो सकती हैं कि कांग्रेस अपने उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पदोन्नत कर सोनिया गांधी की जगह अध्यक्ष बना सकती है। कांग्रेस पर भाजपा अकसर वंशवाद की राजनीति अपनाने का आरोप लगाती रही है और खुद को यह कहकर एक अलग पार्टी बताती रही है कि उसके कार्यकर्ता शीर्ष पदों पर पहुंचे हैं।